योगासन (Part-7) कमर दर्द एवं सर्वाइकल से मुक्ति दिलाए मकरासन

0
54
योगासन सीरीज की इस कड़ी में हम बात कर रहे हैं मकरासन की.. कमर एवं मेरुदण्ड (Spine) के लिए ये बहुत ही उम्दा योगाभ्यास है और आपके डिप्रेशन को कम करने के लिए एक अहम भूमिका निभाता है. इसे Crocodile Yoga Pose भी कहते हैं.

इस आसन को करने का तरीका बहुत आसान है. पेट के बल लेट जाएं, ठोड़ी (Chin), छाती एवं पेट जमीन से स्पर्श होते रहें. पैरों के बीच में अपने योग मैट के बराबर दूरी बनाएं. अब आप सिर को उठाएं और दोनों हाथों को गाल पर लाते हुए कप का आकार बनाएं. धीरे-धीरे दोनों पैरों को नीचे से ऊपर अपने हिप्स की ओर लेकर आएं और फिर धीरे-धीरे नीचे लेकर जाएं.

मकरासन रीढ़ की हड्डी के लिए अतिउत्तम योगाभ्यास है. कमर दर्द के लिए यह बेहतरीन योगाभ्यास है. इसके नियमित अभ्यास से आप हमेशा के लिए कमर दर्द से छुटकारा पा सकते हैं. इस आसन के अभ्यास से आप डिप्रेशन में बहुत हद तक काबू पा सकते हैं. यह थकावट को दूर करने में बहुत लाभप्रद है. इसके अभ्यास से आप अपने फेफड़े की क्षमता को बढ़ा सकते हैं और साथ ही साथ अस्थमा. यह अपच को दूर करने में मदद करता है तथा पाचनतंत्र को ठीक रखता है.

यह वात रोगियों के लिए एक अच्छा योगाभ्यास है. यह मानसिक रोगियों के लिए एक बेहतरीन योगाभ्यास है. इससे आप अपने कंधे के अकड़न को कम कर सकते हैं. यह उच्च रक्तचाप में लाभप्रद है. स्लिप डिस्क के रोगियों के लिए एक उत्तम योगाभ्यास है. इस योग को सही तरीके से करने से आप नींद की समस्या से दूर हो सकते हैं. शरीर में रक्त संचार को बढाता हैं. यह घुटनों के लिए लाभदायक है. अधिक कमर दर्द होने पर इस आसन का अभ्यास नहीं करनी चाहिए. हर्निया की बीमारी में इस आसन को न करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here