महिलाओं के पेट में रहता है दर्द, तो हो सकती है ये गंभीर समस्या

0
41
देश में अधिकतर महिलाएं पीरियड्स के दौरान या लंबे समय तक बैठे रहने से पेट के निचले हिस्से के दर्द से परेशान रहती हैं. अगर पेट दर्द की समस्या छह महीने से अधिक समय तक बनी रहती है तो यह पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम (पीसीएस) का कारण हो सकता है. देश में हर तीन में से एक महिला अपने जीवन के किसी न किसी स्तर पर पेल्विक पेन से पीड़ित होती है.

हेल्थ विशेषज्ञों की माने तो पेट के निचले भाग में दर्द होने के कई कारण हैं, उसमें से पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम (पीसीएस) सबसे सामान्य कारणों में से एक है. यह युवा महिलाओं में अधिक देखा जाता है. यह महिलाओं में होने वाली एक चिकित्सीय स्थिति है. इस स्थिति में तेज दर्द होता है जो खड़े होने पर और बढ़ जाता है, लेटने पर थोड़ा आराम मिलता है. पीसीएस जांघों, नितंब या योनि क्षेत्र की वैरिकोस वेन्स से संबंधित होता है. इसमें शिराएं सामान्य से अधिक खिंच जाती हैं.

पीसीएस का कारण स्पष्ट नहीं है. लेकिन शरीर रचना या हार्मोन्स के स्तर में किसी प्रकार की गड़बड़ी इसका कारण हो सकती है. इससे प्रभावित होने वाली अधिकतर महिलाएं 20-45 वर्ष आयुवर्ग की होती हैं और जो कई बार गर्भवती भी हो चुकी होती हैं. बता दें कि गर्भावस्था के दौरान हार्मोन संबंधी बदलावों, वजन बढ़ने और पेल्विक क्षेत्र की एनाटॉमी में परिवर्तन आने से अंडाशय की शिराओं में दबाव बढ़ जाता है जिससे शिराओं की दीवार कमजोर हो जाती है जिससे वह सामान्य से अधिक फैल जाती हैं.

पीसीएस में कई लक्षण दिखाई दे सकते हैं जैसे पेल्विक क्षेत्र में लगातार दर्द होना. पेट के निचले भाग में मरोड़ अनुभव होना. पेल्विक क्षेत्र में दबाव या भारीपन अनुभव होना. शारीरिक संबंध बनाते समय दर्द होना. यूरीन या मल त्यागते समय दर्द होना. लंबे समय तक बैठने या खड़े होने में दर्द होना. सेक्स के दौरान भी दर्द हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here