ताली बजाने के हैं अनेक फायदे | Mix Pitara

0
26
Applauding
अगर कहा जाये कि ताली बजाना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभदायक है तो आपको यकीन नहीं होगा. लेकिन यह बात एकदम सही है, ताली बजाने से सिर्फ सामने वाले का उत्‍साह ही नहीं बढ़ता बल्कि आपकी खुद की सेहत भी अच्‍छी रहती है. सुबह-सुबह जॉगिंग करते समय आपने अक्सर पार्कों में लोगों को ताली बजाते देखा होगा. बिना बात के ताली बजाने का उनका मकसद सेहत से जुड़े कई फायदे लेना है. आइए जानें ताली बजाना सेहत के लिए कैसे फायदेमंद हो सकता हैं.

एक्युप्रेशर के अनुसार हाथ की हथेलियों में शरीर के समस्त अंगों के संस्थान बिंदू होते हैं और ताली बजाने पर इन बिन्दुओं पर बार-बार दबाब यानी प्रेशर पड़ता है. जिससे शरीर की समस्त आंतरिक संस्थान में एनर्जी जाती है और सभी अंग अपना काम सुचारू रूप में करने लगते हैं. दोनों हाथों से ताली बजाने से बाएं हथेली के लंग, लिवर, गॉल ब्लैडर, किडनी, छोटी और बड़ी आंत तथा दाएं हाथ की अंगुली के साइनस के दबाव बिंदु दबते हैं. इससे शरीर के इन अंगों तक सही तरीके से ब्लड सर्कुलेशन होने लगता है. लगातार ताली बजाने से ब्‍लड में सफेद कणों को शक्ति मिलती है, जिसके परिणामस्वरूप शरीर में इम्‍यूनिटी में सुधार होता है.

पेट संबंधी समस्‍याएं जैसे गैस, कब्ज, अपच और मानसिक रोग जैसे तनाव, एकाग्रता में कमी, चिड़चिड़ापन से पीड़ित होने पर दायें हाथ की चार अंगुलियों को बाएं हाथ की हथेलियों पर जोर-से मारना चाहिए और इस तरह से सुबह-शाम कम-से-कम 5 मिनट करना चाहिए. धीरे-धीरे आप इन रोगों से मुक्त हो जाएंगे.

लो ब्‍लड प्रेशर में ताली बजाकर आप तुरंत ही ऊर्जावान बन सकते हैं. लो ब्‍लड प्रेशर के रोगियों को खड़े होकर दोनों हाथों को सामने लाकर ताली बजाते हुए नीचे से ऊपर की ओर गोलाकार घुमाना चाहिए और दिशा नीचे से ऊपर की ओर होनी चाहिए. यह उपाय लो ब्‍लड प्रेशर को नॉर्मल करने में बहुत लाभदायक है. इसके अलावा ताली बजाने से रक्त संचरण बढ़ता है और नसों तथा धमनियों में से खराब कोलेस्ट्राल सहित सारे अवरोध हट जाते हैं. ताली के द्वारा हृदय रोग, कमर दर्द, सरवाइकल जैसे रोग भी दूर होते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here