हार्ट अटैक से ज्यादा खतरनाक है कार्डियक अरेस्ट..

0
17
श्रीदेवी का निधन कार्डियक अरेस्ट के चलते हुआ. अधिकतर सभी को लग रहा है कि उनको हार्ट अटैक हुआ था. लेकिन बता दें, कार्डियक अरेस्ट हार्ट अटैक से बिलकुल अलग और ज्यादा खतरनाक होता है.

कार्डियक अरेस्ट तब होता है, जब दिल के अंदर वेंट्रीकुलर फाइब्रिलेशन पैदा हो. आसान भाषा में कहें तो इसमें दिल के भीतर विभिन्न हिस्सों के बीच सूचनाओं का आदान-प्रदान गड़बड़ हो जाता है, जिसकी वजह से दिल की धड़कन पर बुरा असर पड़ता है. इसके इलाज के लिए कार्डियोपल्मोनरी रेसस्टिसेशन (CPR) दिया जाता है. इससे हार्ट रेट नियमित किया जाता है. डिफाइब्रिलेटर के जरिए बिजली के झटके दिए जाते हैं. जिससे दिल की धड़कनों को वापस लाने में मदद मिलती है. कार्डियक अरेस्ट होने की सबसे ज्यादा आशंका दिल की बीमारी वालों को सबसे ज्यादा होती है. जिनको पहले हार्ट अटैक आ चुका है उनमें कार्डियक अरेस्ट की आशंका बढ़ जाती है.

हार्ट अटैक या मायोकार्डियल इन्फ्रैक्शन तब होता है, जब शरीर की कोरोनरी आर्टरी (धमनी) में अचानक गतिरोध पैदा हो जाता है. इस आर्टरी से हमारे हृदय की पेशियों तक खून पहुंचता है, और जब वहां तक खून पहुंचना बंद हो जाता है, तो वे निष्क्रिय हो जाती हैं, यानी हार्ट अटैक होने पर दिल के भीतर की कुछ पेशियां काम करना बंद कर देती हैं. धमनियों में आए इस तरह आई ब्लॉकेज को दूर करने के लिए कई तरह के उपचार किए जाते हैं, जिनमें एंजियोप्लास्टी, स्टंटिंग और सर्जरी शामिल हैं, और कोशिश होती है कि दिल तक खून पहुंचना नियमित हो जाए.

श्रीदेवी की अलावा बॉलीवुड की ‘फेवरेट मां’ कहीं जाने वाली रीमा लागू और साउथ फिल्मों की एक्ट्रेस और तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के मौत की वजह भी कार्डियक अरेस्ट है. कई सेलेब्स हैं जिनकी मौत कार्डियक अरेस्ट से वजह से हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here