जल्द गर्भवती होने के आसान तरीके

0
101
गर्भवती होना एक महिला के लिए बहुत ही ख़ुशी की बात होती है. हर महिला इस दिन का बड़े ही बेसब्री से इंतजार करती है. लेकिन ये ख़ुशी, दुख में तब बदल जाता है जब तमाम कोशिशों के बावजूद महिला को गर्भधारण करने में समस्या आये. इसलिए आज हम आप लोगों के लिए लेकर आये हैं गर्भवती होने के कुछ आसन तरीके.. आजकल लाइफस्टाइल में काफी कुछ परिवर्तन की वजह से महिलाओं और पुरुषों की फर्टिलिटी का स्तर काफी कम हो गया है, जो गर्भधारण ना होने देने का मूल कारण है. हमारे कुछ आसान तरीकों को आजमाकर आप भी तुरंत गर्भवती हो सकती हैं… तो आइये जानते हैं जल्द गर्भवती होने के किन बातों का रखें ध्यान…..

* गर्भवती होने से पहले पति-पत्नी आपस में सलाह-मशविरा ज़रूर करें कि आपको बच्चा चाहिए या नहीं.
* प्रेगनेंट होने के लिए पति-पत्नी को तनावमुक्त माहौल में रहता ज़रूरी है. तनाव से ग्रसित लोगों को गर्भधारण करने में मुश्किलें आ सकती हैं. सहवास के दौरान या पहले चिंतामुक्त होकर संबंध बनाने से गर्भ ठहरने की संभवनाएं भी बढ़ जाती है.
* तमाम कोशिशों के बावजूद लंबे समय बाद भी स्त्री को गर्भ न रहता हो तो वैद्यकीय सलाह ज़रूर लें.

* महिलाओं के लिए अण्डोत्सर्ग (Ovulation) का समय जाननेवाले किट का उपयोग करके सही समय का पता लगाना चाहिए. Ovulation से 24 से 36 घंटे पहले मूत्र में एलएच की वृद्धि होती है, जो गर्भवती बनने के लिए लाभकारी होता है.
* गर्भधारण करने की स्थिति में महिलाओं को किसी भी प्रकार की दवाइयों का सेवन करने से परहेज करना चाहिए. गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन तुरंत रोक दें.
* मासिक धर्म का योग्य समय देखकर शारीरिक संबंध बनाना प्रेग्नेंट होने में मददगार साबित होता है. महिलाओं के शरीर में शुक्राणु थोड़े दिनों तक रहते हैं. इसलिए ज़रूरी है नियमित रूप से संबंध बनाना गर्भ रहने में मदद करता है.

* स्त्रियों के शरीर में बीज 12-24 घंटे तक प्रेगनेंसी के लिए उपलब्ध होते हैं, जबकि शुक्राणु 3 से 5 दिनों तक जिंदा रह सकते हैं. इसलिए 28 दिनों के बाद आने वाले मासिक धर्म में पहले 11 से 21 दिन तक संबंध रखना गर्भवती होने में लाभकारी हो सकता है. अक्सर महिलाओं का मासिक धर्म (menstrual cycle) 28 से 30 दिनों का होता है, जिसमें से 14 वें दिन वे सबसे ज़्यादा उर्वर अवस्था में रहती हैं.
* यौन संबंध के समय पति-पत्नी की शारीरिक अवस्था ऐसी हो जिससे पुरुष महिला के साथ गहरा संबंध प्रस्थापित कर सके. संबंध के बाद महिला को अपनी पीठ पर 15 मिनट तक लेटा हुआ रहना चाहिए, जिससे पुरुष के शुक्राणु स्त्री के बीज तक पहुंच सके.
* गर्भधारण में पुरुषों को भी कुछ चीजों का खास ख्याल रखना चाहिए. जैसे, ज्यादा व्यायाम नहीं करना, गर्म पानी से टब बाथ न लेना और ज्यादा तंग कच्छे न पहनना. वज़न ज़्यादा होने की वजह से महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्कतें आती हैं. बच्चे को जन्म देने के लिए पुरुष और महिला दोनों का ही स्वस्थ रहना काफी ज़रूरी है.

* पुरुषों को स्मोकिंग, अल्कोहलिक जैसी चीजों से भी दूर रहना चाहिए. इसके सेवन से वीर्य की क्वालिटी और क्वांटिटी ख़राब हो जाती है. वहीं महिलाओं द्वारा अल्कोहलिक चीजों का सेवन करने से उनकी बच्चेदानी (uterus) कमजोर हो जाती है. जो गर्भधारण करने में समस्या पैदा करते हैं.
* गर्भधारण करने के लिए अपने खानपान की तरफ भी काफी ध्यान देना चाहिए. पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, मिनरल और अन्य पोषक पदार्थ वाले संतुलित आहार का सेवन करें, जिससे गर्भधारण की प्रक्रिया में तेज़ी आ सके. खानपान में अन्य पूरक आहार (supplements) तथा माइक्रोन्यूट्रिएंट्स (micronutrients) भी शामिल कर सकती हैं. बाहर के जंक फ़ूड और फैटी चीजों से परहेज करें.
* नियमित रूप से योग और एकसरसाइज करना भी लाभकारी होता है. इससे मानसिक और शारीरिक ऊर्जा में वृद्धि होती है. जो आपके तनाव और अवसाद को काम करने में मददगार साबित होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here