जानिए ऑफिस और घर पर कैसे खुद को FIT रखें, अपनाये ये तरीके

0
88
आज के व्यस्त समय में मोबाइल पर गाना सुनने, चैटिंग करने, शॉपिंग करने, ऑफिस में घंटों काम करने, दोस्तों को साथ फिल्म देखने, और ना जाने कितने कामों के लिए हमारे पास पर्याप्त समय होता है, लेकिन टाइम नहीं है तो सिर्फ अपनी सेहत को ठीक रखने के लिए.इस कारण से कम उम्र में भी तमाम बीमारियां हमें हमेशा घेरे रखती हैै.यदि हम केवल रोजाना अपनी सेहत के लिए महज 3 मिनिट का समय निकाल लेंगे और नीचे दिए गए नियमों को फाॅलो कर लेंगे तो कई बीमारियों से बच सकते हैं.

तो आईए जानते हैं
लाइफ स्टाइल बदल गई
बता दें कि पहले के समय में आॅफिस का मतलब सुबह 9 से 5 होता था. लेकिन मल्टीनेशनल वर्ककल्चर ने ऑफिस के काम को 24 घंटे के वर्क कल्चर में बदल दिया है. ऐसे में जब आप 9-10 घंटे की ऑफिस ड्यूटी के बाद थके-हारेघर पहुंचते हैं, तो आराम करने के सिवाए कुछ नहीं सूझता. इस दौरान घर पर भी कई छोटे छोटे काम आ जाते हैं. ऐसे में हैल्थ के लिए समय निकालना नामुमकिन हो जाता है. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर खुद को कैसे फिट रखा जाए. ताकि शरीर बिमारियों का घर न बन पाए.ऑफिस में इन नियमों को करें फाॅलो
– आॅफिस या घर पर हमेशा सीढ़ियों का उपयोग करें. ऐसे में आपकी अच्छी खासी कसरत हो जाएगी. इसके लिए आपको अलग से समय भी निकालने की जरूरत नहीं पड़ेगी.
– आॅफिस में बीच-बीच में उठकर टहलकदमी करने की कोशिश करें. फोन पर बात करते समय भी कुर्सी छोड़ थोड़ा टहलना चाहिए.कभी कंप्यूटर स्क्रीन छोड़कर ऑफिस से बाहर आकर आसमान का भी नजारा लें. आॅफिस के टैरेस पर भी आप घूम सकते हैं.
– कोशिश करें लंच टाइम में सारा खाना एकसाथ ना खाएं. बल्कि 9 घंटे की ड्यूटी में दो ब्रेक लेकर थोड़ा-थोड़ा करके खाना खाएं.इससे मोटापे का खतरा कम हो जाएगा.
– फलों को डाइट में जरूर शामिल करें. साथ ही मौसम के मुताबिक फलों का सेवन करें. चाय पीने ऑफिस से निकल सड़क वाले टी-स्टॉल पर जाएं. ऑफिस की कुर्सी पर बैठे-बैठे चाय की चुस्कियां लेने से परहेज करें.
-कुर्सी पर बैठे बैठे कुछ ऐसी एक्सरसाइज करें जो संभव हो. जैसे- समय-समय पर गर्दन को पीछे मोड़ना आदि. साथ ही आंखों को आराम देते हुए ठंडे पानी से आंखों को धोएं. कुछ देर पलक बंद करके उंगली से आंखों को सहलाएं.

यदि आप भी अपनी बिज़ी लाइफ में अपनी हेल्थ और फिटनेस पर को नज़र अंदाज़ कर रहे हो तो इन टिप्स को आज से ही फॉलो करना शुरू कर दें. वैसे भी कबीर ने ठीक ही कहा है, काल करे सो आज कर, आज करे सो अब।
पल में प्रलय होएगी, बहुरि करेगो कब.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here